ऑपरेशन के बाद बिना टांका लगाए मासूम को किया डिस्चार्ज, हुई मौत, लोगों में आक्रोश


मो. गुफरान/प्रयागराज: संगम नगरी प्रयागराज में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. जहां डॉक्टरों पर यह आरोप है कि ऑपरेशन के बाद तबियत बिगड़ने पर एक 3 साल की मासूम को सड़क पर छोड़ दिया. बच्ची के पिता ने अस्पातल प्रशासन से लाख मिन्नते कीं, लेकिन उनकी एक नहीं सुनी गई. बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ  काफी आक्रोश है. अस्पताल के बाहर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई. हंगामे की आशंका के चलते कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है. 

ये भी पढ़ें- समुद्र मंथन से निकला वृक्ष UP के इस जिले में है मौजूद, पर्यटन विभाग कर रहा संरक्षण

क्या है मामला?
दरअसल, करेली थाना क्षेत्र के करेहदा इलाके में मुकेश मिश्रा रहते हैं. 20 दिन पहले उन्होंने अपनी तीन साल की बेटी खुशी को पेट में दर्द की शिकायत थी. जिसके इलाज के लिए उसे पिपरी थाना इलाके के रावतपुर में स्थित युनाइटेड मेडीसिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया. आंत में इंफेक्शन बताते हुए डॉक्टरों ने ऑपरेशन किया. आरोप है कि डॉक्टरों ने बिना टांका लगाए ही दो दिन पहले उसे बाहर कर दिया. जिसके बाद परिजन उसे लेकर शहर के दूसरे अस्पताल का चक्कर काटते रहे लेकिन कहीं पर उसे भर्ती नहीं किया गया. खुशी की हालत खराब होने पर परिजन दोबारा यूनाइटेड मेडीसिटी हॉस्पिटल लेकर पहुंचे. जहां बच्ची को भर्ती करने से इनकार कर दिया गया. जिसके बाद इलाज के इंतजार में मासूम की मौत हो गई. 

ये भी पढ़ें- UPPSC Recruitment 2021: RO/ARO के इतने पदों पर निकली वैकेंसी, यहां जानें आवेदन डिटेल

मौत के बाद बच्ची को लगा टांका
मौत की सूचना पर आक्रोशित ग्रामीणों ने हंगामा शुरू कर दिया. इस बात की सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को समझा-बुझा कर मामला शांत कराया. इसके बाद इंसानियत को शर्मसार करने वाला ऐसा नजारा दिखाई दिया जिसे देखकर हर कोई दंग है. दरअसल, पुलिस ने डॉक्टर को बुला कर अस्पातल गेट पर ही बच्ची के पेट में टांका लगवाया. अस्पताल के कर्मचारी ने खुले आसमान के नीचे जमीन पर पड़ी मासूम बच्ची के पेट में टांका लगाया. फिलहाल पिपरी पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया. 

कुछ भी बोलने से बच रहा हॉस्पिटल प्रबंधन
इस पूरे प्रकरण पर हॉस्पिटल का कोई भी अधिकारी कैमरे पर कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं हैं. हालांकि, फोन पर हुई बातचीत के दौरान अस्पताल प्रबंधन ने मृतक बच्ची के परिजनों के आरोपों को बेबुनियाद बताया है. 

ये भी पढ़ें- UKPSC Recruitment 2021: RO/ARO के पदों पर निकली भर्ती, इस लिंक से करें डायरेक्ट अप्लाई

डीएम ने दिए जांच के आदेश 
वहीं इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी ने मामले का संज्ञान लिया. उन्होंने इस मामले पर एडीएम सिटी और सीएमओ की दो सदस्यीय टीम गठित कर जांच के आदेश दिए हैं. जिलाधिकारी ने अपने आदेश में साफ किया है कि मामले की जल्द से जल्द जांच की जाए. जांच में दोषी पाए जाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

ये भी देखें- यह बिल्ली है गजब की Gymnast, क्या आप कर पाएंगे इसके जैसे करतब?

WATCH LIVE TV

 



[GET MORE HINDI NEWS HERE : https://hindi.livenewsindia.net/ ]

Source hyperlink

Related Articles

BEST DEALS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles