IPL 2021: Delhi Capitals खिताब की प्रबल दावेदार, टीम की ये ताकत बनाती है उसको घातक


नई दिल्ली: दिल्ली कैपिटल्स की टीम ऋषभ पंत की कप्तानी में एक बार फिर दम दिखाने के लिए तैयार है. दिल्ली कैपिटल्स पिछले आईपीएल टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी, लेकिन मुंबई इंडियंस के हाथों उसे हार का सामना करना पड़ा था. दिल्ली कैपिटल्स की टीम मजबूत बल्लेबाजी और शानदार पेस बॉलिंग यूनिट के दम पर इस बार भी खिताब की प्रबल दावेदार है. ऋषभ पंत को श्रेयस अय्यर के चोटिल होने के कारण कप्तानी सौंपी गई है. इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में श्रेयस के कंधे की हड्डी खिसक गई थी. दिल्ली कैपिटल्स को दस अप्रैल को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पहला मैच खेलना है.

दिल्ली की ताकत

दिल्ली कैपिटल्स टूर्नामेंट की सबसे संतुलित टीमों में से है, जिसके पास मजबूत बल्लेबाजी क्रम और शानदार तेज आक्रमण है. टॉप ऑर्डर में शिखर धवन, पृथ्वी शॉ और अजिंक्य रहाणे जैसे अनुभवी बल्लेबाज हैं. दिल्ली कैपिटल्स के पास ऋषभ पंत, मार्कस स्टोइनिस, शिमरोन हेटमेयर या सैम बिलिंग्स आएंगे. स्टीव स्मिथ के आने से बल्लेबाजी और मजबूत हुई है.

धवन (618) पिछले सीजन में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में दूसरे स्थान पर थे. इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में उन्होंने 98 और 67 रन बनाए थे. वहीं, शॉ ने विजय हजारे ट्रॉफी में 827 रन बनाकर फॉर्म में लौटने का ऐलान किया था. पंत ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में मैच जिताने वाले प्रदर्शन करने में कामयाब रहे. गेंदबाजी में दक्षिण अफ्रीका के कैगिसो रबाडा ने पिछले सीजन में पर्पल कैप हासिल की थी. वहीं, एनरिच नॉर्टिज की गेंदबाजी भी शानदार थी. टीम के पास क्रिस वोक्स, ईशांत शर्मा और उमेश यादव जैसे तेज गेंदबाज भी हैं.

दिल्ली की कमजोरियां

दिल्ली की मूल कमजोरी अपने धुरंधर खिलाड़ियों के विकल्प के तौर पर उनकी टक्कर के खिलाड़ियों का अभाव है. यही वजह है कि वे रबाडा और एनरिच नॉर्टिज को आराम नहीं दे सके. विकेटकीपिंग में भी ऋषभ पंत के चोटिल होने पर उनके पास विकल्प नहीं है. गेंदबाजी में ईशांत और उमेश अब सीमित ओवरों का क्रिकेट नहीं खेलते हैं.

मौका

ऋषभ पंत के पास यह बड़ा मौका है कि वे महेंद्र सिंह धोनी के साए से निकलकर खिताब के साथ खुद को साबित कर सकें. उनके पास टी20 वर्ल्ड कप की तैयारी का भी यह सुनहरा मौका है. वहीं, धवन सलामी बल्लेबाज के तौर पर अपनी जगह पक्की करना चाहेंगे.

खतरा

ऋषभ पंत को ध्यान रखना होगा कि कप्तानी के अतिरिक्त बोझ तले उनकी आक्रामक बल्लेबाजी नहीं प्रभावित होने पाए. वहीं, दिल्ली टीम को रबाडा और एनरिच नॉर्टिज पर अतिरिक्त निर्भरता से बचना होगा. पिछली बार पहले नौ में से सात मैच जीतने के बाद दिल्ली लगातार चार मैच हार गई थी. उसे इससे बचना होगा.

टीम:

शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, शिमरोन हेटमेयर, मार्कस स्टोइनिस, क्रिस वोक्स, आर अश्विन, अक्षर पटेल, अमित मिश्रा, ललित यादव, प्रवीण दुबे, कैगिसो रबाडा, एनरिच नॉर्टिज, ईशांत शर्मा, आवेश खान, स्टीव स्मिथ, उमेश यादव, रिपल पटेल, विष्णु विनोद, लुकसान मेरिवाला, एम सिद्धार्थ, टॉम कुरेन, सैम बिलिंग्स.

 





Source hyperlink

Related Articles

BEST DEALS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles