Pakistan के High Level Delegation को Afghanistan ने बैरंग लौटाया, Landing की नहीं दी इजाजत


काबुल: पाकिस्तान (Pakistan) को अफगानिस्तान (Afghanistan) में हाई लेवल बेइज्जती का सामना करना पड़ा है. दरअसल, अफगानिस्तान यात्रा पर गए एक पाकिस्तानी संसदीय प्रतिनिधिमंडल को हवाईअड्डे के टावर ऑपरेटर ने सुरक्षा का हवाला देते हुए लैंडिंग की इजाजत नहीं दी. इतना ही नहीं, यात्रा रद्द करने की सूचना भी प्रतिनिधिमंडल को ऑपरेटर द्वारा ही दी गई. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अफगान की नजरों में पाकिस्तान की क्या अहमियत है. अफगानिस्तान के इस रुख पर पाकिस्तान गुस्से से लाल हो गया है.  

दोनों देशों में होनी थी बातचीत

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, संसदीय सचिव असद कैसर के नेतृत्व में पांच सदस्यीय संसदीय प्रतिनिधिमंडल, तीन दिवसीय यात्रा के लिए अफगानिस्तान जाने वाला था. इस दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए वार्ता होनी थी, लेकिन जब प्रतिनिधि मंडल वहां पहुंचा तो उन्हें लैंड करने की इजाजत ही नहीं दी गई. पूर्व पाकिस्तानी सीनेटर फरहतुल्लाह बाबर (Farhatullah Babar) ने यात्रा के रहस्यमय तरीके से रद्द होने के समय पर सवाल उठाया है.

ये भी पढ़ें -Ladakh: भारत-चीन के बीच 11वें दौर की बातचीत आज, अबगोगरा और हॉट स्प्रिंग्स पर हो सकती है चर्चा

Babar ने उठाए कई सवाल

बाबर ने एक ट्वीट (Tweet) में कहा कि लैंडिंग के समय सुरक्षा का खतरा पैदा हो गया था. क्या यात्रा को पहले से अनुमति नहीं मिली थी? यात्रा को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया, इसके लिए मेजबान के द्वारा कोई पछतावा नहीं जताया गया. उन्होंने आगे कहा, ‘यात्रा रद्द करने के बारे में टावर ऑपरेटर द्वारा बताया गया. उच्च स्तरीय प्रतिनिधि के सामान्य प्रोटोकॉल को नजरअंदाज कर दिया गया. इसमें और भी बहुत कुछ है’.

नई Dates का ऐलान जल्द

वहीं, अफगानिस्तान के लिए पाकिस्तान के विशेष प्रतिनिधि मोहम्मद सादिक ने गुरुवार को बताया कि काबुल के लिए स्पीकर की यात्रा को स्थगित कर दिया गया है, क्योंकि सुरक्षा खतरे के कारण हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया था. यात्रा के लिए नई तारीखों का फैसला आपसी विचार विमर्श के बाद किया जाएगा. गौरतलब है कि अफगानिस्तान को लगता है कि पाकिस्तान तालिबान के साथ शांति वार्ता में रोड़ा अटका सकता है. इस वजह से दोनों देशों के बीच रिश्ते खास अच्छे नहीं हैं. पिछले साल दिसंबर में, तालिबान के वरिष्ठ नेताओं के पाकिस्तान में अपने अनुयायियों और तालिबान लड़ाकों से मिलते हुए एक वीडियो भी सामने आया था. 

 





Source hyperlink

Related Articles

BEST DEALS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles